हिंदी की प्रमुख जीवनियाँ और जीवनीकार | jiwani sahity

0
5226
hindi-jiwni-sahity-list
hindi jiwni sahity

हिंदी साहित्य में जीवनी लेखन 

किसी महत्वपूर्ण व्यक्ति के जीवन का सम्पूर्ण विवरण क्रमबद्ध रूप में महत्वपूर्ण घटनाओं के माध्यम से जब किसी लेखक द्वारा प्रस्तुत किया जाता है तो उस रचना को जीवनी (jiwani) कहा जाता है। जीवनी को अंग्रेजी में Biography कहा जाता है। आत्मकथा में जहाँ लेखक स्वंय अपने जीवन की कथा लिखता है वहीं जीवनी में किसी अन्य महान व्यक्ति के जीवन की घटनाओं का वर्णन करता है। हिंदी के प्रथम जीवनीकार गोपाल शर्मा शास्त्री माने जाते हैं और उनकी ‘दयानंद दिग्विजय’ को हिंदी की प्रथम जीवनी। हिंदी की महत्वपूर्ण जीवनियाँ नीचे दी गई हैं।

प्रमुख जीवनी और जीवनीकार-

हिंदी साहित्य की प्रमुख jiwani निम्नलिखित हैं-

जीवनीकारजीवनी
गोपाल शर्मा शास्त्रीदयानंद दिग्विजय (1881)
भारतेंदुबादशाह दर्पण; पंच पवित्रात्मा तथा चरितावली
राधाकृष्ण दासश्री नागरीदास जी का जीवन चरित्र (1894); कविवर बिहारी लाल (1895); सूरदास (1900)
भारतेंदु बाबू हरिश्चंद का जीवन चरित (1904)
शिवनंदन सहायहरिश्चंद (1905)
बालमुकुंद गुप्तप्रताप नारायण मिश्र (1907)
श्यामसुंदर दासहिंदी कोविद रत्नमाला (2 भाग, 1909-14)
रामचन्द्र शुक्लबाबू राधाकृष्णदास (1913)
घनश्यामदास बिड़लाबापू
संपूर्णानंदधर्मवीर गाँधी  (1914); देशबंधु चित्तरंजन दास (1921)
राजेन्द्र प्रसादचंपारण में महात्मा गाँधी (1919); बापू के कदमों में (1950)
महावीर प्रसाद द्विवेदीप्राचीन पंडित और कवि (1918); सुकवि संकीर्तन (1924); चरित चर्चा (1929)
रामबृक्ष बेनीपुरीजय प्रकाश नारायण (1951)
राहुल सांकृत्यायनस्तालिन; कार्लमार्क्स; लेनिन; माउत्से तुंग
शिवरानी देवीप्रेमचंद घर में (1944)
अमृत रायकलम का सिपाही (प्रेमचंद, 1962)
मदन गोयलकलम का मजदूर (प्रेमचंद, 1964)
जैनेन्द्रअकाल पुरुष गाँधी (1968)
हंस राज रहबरयोद्धा संन्यासी विवेकानंद
शिव प्रसाद सिंहउत्तर योगी श्री अरविन्द
अमृत लाल नागरचैतन्य महाप्रभु
चंद्रशेखर शुक्लरामचन्द्र शुक्ल: जीवन और कृतित्व
शांति जोशीपन्त की जीवनी
रामविलास शर्मामार्क्स, त्रोत्स्की और एशियाई समाज; निराला की साहित्य साधना (3 भागों में, 1969)
कमला सांकृत्यायनमहामानव महापंडित: राहुल सांकृत्यायन
विष्णु चन्द्र शर्मासमय साम्यवादी (राहुल सांकृत्यायन); अग्निसेतु (1973)
जगदीश चन्द्र माथुरजिन्होंने जीना जाना (1971)
विष्णु प्रभाकरआवारा मसीहा (शरतचन्द्र, 1974)
शोभाकांतबाबूजी (नागार्जुन, 1991)
सुलोचना रांगेय राघवरांगेय राघव: एक अंतरंग परिचय (1997)
बिन्दु अग्रवालस्मृति के झरोखे में (भारत भूषण अग्रवाल, 1999)
मदन मोहन ठाकौरराजेन्द्र यादव (1999)
महिमा मेहताउत्सव पुरुष- नरेश मेहता (2003)
कुमुद नागरवट वृक्ष की छाया में (अमृत लाल नागर, 2004)
गायत्री कमलेश्वरकमलेश्वर मेरे हमसफर (2005)
राज कमल रायशिखर से सागर तक (अज्ञेय)
विश्वनाथ त्रिपाठीव्योमकेश दरवेश (हजारी प्रसाद द्विवेदी)
विष्णु नागररघुवीर सहाय की जीवनी
पुरुषोत्तम अग्रवालकोलाज: अशोक वाजपेयी (2012)
ओंकार शरदलोहिया
अरुण महेश्वरीसिरहाने ग्राम्सी
अखिलेशमकबूल
धर्मानंद कोसम्बीभगवान बुध
रोमाँ रोलाँविवेकानंद (अनु. अज्ञेय, रघुवीर सहाय); महात्मा गाँधी (अनु. प्रफुल्लचन्द्र ओझा); रामकृष्ण परमहंस (अनु. रघुराज गुप्त)
हिंदी जीवनी साहित्य सूची
जीवनी से संबंधित प्रमुख तथ्य
  • जिन्होंने जीना जाना (जगदीश माथुर) में 7 साहित्यकारों, 2 राजनेताओं, 1 विचारक, 1 अभिनेत्री, 1 कलाकार का चरित लेख संग्रहित है।
  • नाभा दास- भक्तमाल (1585 ई.)
  • गोसाई गोकुलनाथ- चौरासी वैष्णवन की वार्ता, दो सौ बावन वैष्णवन की वार्ता (17 वीं सदी ई.)
  • ‘अवारा मसीहा’ शरतचंद्र की औपन्यासिक जीवनी है।
  • ‘बटवृक्ष को छाया में’ अमृत लाल नागर (कुमुद नागर) की स्मृति को सुरक्षित रखने के लिए लिखी गई है।
जीवनी विधा से संबंधित कुछ प्रश्न

1. हिंदी का प्रथम जीवनी कौन-सा है?

(A) बादशाह दर्पण

(B) दयानंद दिग्विजय ✅

(C) हिंदी कोविद रत्नमाला

(D) श्री नागरीदास जी का जीवन चरित्र

2. ‘आवारा मसीहा’ रचना किसके जीवन पर आधारित है?

(A) बंकिमचंद्र ✅

(B) प्रेमचंद

(C) शरच्चन्द्र

(D) रवीन्द्रनाथ टैगोर

3. ‘शिखर से सागर तक’- किस रचनाकार की जीवनी है?

(A) निराला

(B) मुक्तिबोध

(C) अज्ञेय ✅

(D) धर्मवीर भारती

4. ‘मिला तेज से तेज’ किस विधा की रचना है?

(A) जीवनी ✅

(B) आत्मकथा

(C) निबंध

(D) संस्मरण

5. निम्नलिखित में से कौन-सी रचना जीवनी नहीं है?

(A) कलम का मज़दूर

(B) कलम का सिपाही

(C) मेरी पत्नी और भेड़िया ✅

(D) प्रेमचंद घर में

6. ‘बटवृक्ष को छाया में’ किस लेखक की स्मृति को सुरक्षित रखने के लिए लिखी गई है?

(A) कमलेश्वर

(B) अमृतलाल नागर ✅

(C) अमृतराय

(D) हजारी प्रसाद द्विवेदी

7. प्रकाशन वर्ष के अनुसार निम्नलिखित जीवनियों का सही अनुक़म है:

(A) व्योमकेश दरवेश, प्रेमचंद घर में, वटवृक्ष की छाया में, आवारा मसीहा

(B) आवारा मसीहा, वटवृक्ष की छाया में, प्रेमचंद घर में, व्योमकेश दरवेश

(C) वटवृक्ष की छाया में, व्योमकेश दरवेश, आवारा मसीहा, प्रेमचंद घर में

(D) प्रेमचंद घर में, आवारा मसीहा, वटवृक्ष की छाया में, व्योमकेश दरवेश✅

8. निम्नलिखित कृतियों को उनके विधा रूपों के साथ सुमेलित कीजिए:

सूची- Iसूची- II
(a) एक कंठ विषपायी(i) जीवनी
(b) अन्या से अनन्या(ii) यात्रा-वृत्तांत
(c) एक बूँद सहसा उछली(iii) गीति नाट्य
(d) उत्तरयोगी: श्री अरविंद(iv) आत्मकथा
 (v) संस्मरण

कोड:

      (a)    (b)    (c)    (d)

(A)    (i)    (ii)    (iii)   (iv)

(B)    (ii)    (i)    (iv)   (iii)

(C)   (v)    (iv)   (i)    (ii)

(D)   (iii)   (iv)   (ii)    (i) ✅

Previous articleहिंदी के संस्मरण और संस्मरणकार | hindi sansmaran sahity
Next articleहिंदी के जीवनीपरक उपन्यास | jiwniparak upnyas