DU BA Hons. Hindi 2nd Semester Syllabus

0
1319
delhi-university-ba-hons-hindi-2nd-semester-syllabus
दिल्ली विश्वविद्यालय बीए ऑनर्स द्वितीय सेमेस्टर हिंदी पाठ्यक्रम

Delhi University BA (Hons.) 2nd Semester Hindi Core Course का Syllabus दो भागों DSC और GE में विभाजित है। Discipline Specific Core (DSC) के अंतर्गत कुल तीन पेपर हैं- हिंदी कविता: सगुण भक्तिकाव्य एवं रीतिकालीन काव्य, हिंदी साहित्य का इतिहास (आधुनिक काल), हिंदी निबंध एवं अन्य गद्य विधाएँ। कोर कोर्स Generic Electives (GE) के अंतर्गत कुल तीन पेपर हैं- पटकथा और संवाद लेखन, भाषा और समाज और हिंदी भाषा और लिपि का इतिहास।

हिंदी कविता: सगुण भक्तिकाव्य एवं रीतिकालीन काव्य

COURSEहिंदी कविता: सगुण भक्तिकाव्य एवं रीतिकालीन काव्य
Nature of the Courseकोर कोर्स (DSC) 4
Total Credit4
Lecture3
Tutorial1
Practical0
Eligibility Criteria / PrerequisiteDSC

Unit 1: (10 घंटे)

  • गोस्वामी तुलसीदास: रामचरित मानस, (सुन्दर काण्ड)

गीताप्रेस, गोरखपुर

Unit 2: (10 घंटे)

  • सूरदास- भ्रमरगीतसार: (संपादक) आचार्य रामचंद्र शुक्ल

(नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी, नई दिल्‍ली)

पद संख्या- (4, 7, 21, 22, 23, 24, 25, 37, 52, 76, 85)

Unit 3: (10 घंटे)

  • केशवदास- रामचंद्रिका: वन-गमन वर्णन
  • बिहारी- बिहारी रत्नाकार: श्री जगनन्‍नाथदास ‘रत्नाकार’ (शिवाला, वाराणसी)

छंद संख्या- 1, 62, 103, 127, 128, 143, 180, 347

Unit 4: (15 घंटे)

  • घनानंद- घनानंद (ग्रंथावली); संपा. विश्वनाथ प्रसाद मिश्र; (वाणी वितान; बनारस- 1)

सुजानहित (1, 4, 7, 18, 19, 38, 41)

  • भूषण- शिवभूषण तथा प्रकीर्ण रचना, विश्वनाथ प्रसाद मिश्र

छंद संख्या – 50, 104, 411, 420, 443, 512

References

  • सूरदास- रामचंद्र शुक्ल
  • गोस्वामी तुलसीदास- रामचंद्र शुक्ल
  • भक्ति आन्दोलन और सूरदास का काव्य- मैनेजर पांडेय
  • बिहारी- विश्वनाथ प्रसाद मिश्र
  • भूषण- विश्वनाथ प्रसाद मिश्र
  • गिरिधर कविराय ग्रंथावली- संपा. डॉ. किशोरीलाल गुप्त
  • घनानंद और स्वछंदतावादी काव्यधारा- मनोहरलाल गौड़
  • रीतिकाव्य की भूमिका- डॉ. नगेंद्र
  • कविवर बिहारीलाल और उनका युग- रणधीर प्रसाद शास्त्री
  • भूषण और उनका साहित्य- राजमल बोरा
  • हिंदी नीतिकाव्य का स्वरूप विकास- रामस्वरूप शास्त्री
  • हिंदी साहित्य का उतरमध्यकाल: रीतिकाल- महेंद्र कुमार
  • हिंदी साहित्य का वृहत इतिहास, भाग- 6, संपा. डॉ. नगेन्द्र
  • घनानंद ग्रंथावली- विश्वनाथ प्रसाद मिश्र

Additional Resources:

  • सनेह को मारग- इमरै बंघा
  • आर्या सप्तशती और बिहारी सतसई का तुलनात्मक अध्ययन- कैलाश नारायण तिवारी
  • हिंदी साहित्य का इतिहास (आदिकाल से रीतिकाल तक)- पूरनचंद टंडन

हिंदी साहित्य का इतिहास (आधुनिक काल)

COURSEहिंदी साहित्य का इतिहास (आधुनिक काल)
Nature of the Courseकोर कोर्स (DSC) 5
Total Credit4
Lecture3
Tutorial1
Practical0
Eligibility Criteria / PrerequisiteDSC

Unit 1: 10 घंटे

  • मध्यकालीन बोध तथा आधुनिक बोध (नवजागरण की पृष्ठभूमि)
  • नवजागरण की परिस्थितियाँ और भारतेन्दु युग
  • महावीर प्रसाद द्विवेदी: हिंदी पत्रकारिता और खड़ी बोली आंदोलन
  • स्वाधीनता आंदोलन और नवजागरणकालीन चेतना का उत्कर्ष, विभिन्‍न वैचारिक मत और हिंदी साहित्य से उनका संबंध

Unit 2: 10 घंटे

  • कथा साहित्य का विकास
  • नाटक का विकास
  • निबंध और अन्य गद्य विधाएँ (संस्मरण, यात्रा आख्यान, डायरी, रिपोर्ताज, रेखाचित्र, साक्षात्कार साहित्यिक पत्रकारिता और लघु पत्रिका)
  • आलोचना का विकास

Unit 3: 10 घंटे

  • छायावाद: परिवेश और प्रवृत्तियाँ
  • उतर छायावाद: परिवेश और प्रवृत्तियाँ
  • प्रगतिवाद: परिवेश और प्रवृत्तियाँ
  • प्रयोगवाद: परिवेश और प्रवृत्तियाँ
  • नयी कविता: परिवेश और प्रवृत्तियाँ

Unit 4: 15 घंटे

  • साठोत्तरी कविता, नवगीत, समकालीन कविता
  • समकालीन कथा और कथेतर साहित्य
  • आलोचना और संहित्यिक पत्रकारिता
  • अस्मितामूलक विमर्श: दलित, आदिवासी और स्त्री

References:

  • हिंदी साहित्य का इतिहास- रामचंद्र शुक्ल
  • हिंदी साहित्य का इतिहास- संपादक -नगेन्द्र
  • हिंदी साहित्य का सरल इतिहास- विश्वनाथ त्रिपाठी
  • आधुनिक साहित्य की प्रवृतियाँ- नामवर सिंह
  • हिंदी का गद्य साहित्य- रामचन्द्र तिवारी
  • हिंदी साहित्य और संवेदना का विकास- रामस्वरूप चतुर्वेदी
  • हिंदी गद्य: विन्यास और विकास- रामस्वरूप चतुर्वेदी
  • आधुनिक साहित्य- नंददुलारे वाजपेयी

additional Resources:

  • शिवसिंह सरोज- शिवसिंह सेंगर
  • हिंदी नवरत्न- मिश्र बंधु
  • समकालीन हिंदी कविता- विश्वनाथ प्रसाद तिवारी
  • हिंदी नाटक: नयी परख- संपादक. रमेश गौतम
  • कथेतर- माधव हाड़ा
  • भारतेन्दु प्रसाद द्विवेदी और हिंदी नवजागरण- रामविलास शर्मा
  • महावीर प्रसाद द्विवेदी और हिंदी नवजागरण- रामविलास शर्मा
  • छायावाद- नामवर सिंह
  • कविता के नए प्रतिमान- नामवर सिंह
  • तारसप्तक और दूसरा सप्तक (पहला संस्करण और दूसरा संस्करण की भूमिकाएँ) –
  • संपादक- अज्ञेय
  • हिंदी नवगीत: उद्भव और विकास- राजेंद्र गौतम
  • सामाजिक न्याय और दलित साहित्य- स. श्यौराज सिंह ‘वेचैन’
  • आधी दुनिया का सच- कुमुद शर्मा
  • आदि-धर्म- रामदयाल मुंडा
  • आदिवासी साहित्य की भूमिका- गंगा सहाय मीणा

हिंदी निबंध एवं अन्य गद्य विधाएँ

COURSEहिंदी निबंध एवं अन्य गद्य विधाएँ
Nature of the Courseकोर कोर्स (DSC) 6
Total Credit4
Lecture3
Tutorial1
Practical0
Eligibility Criteria / PrerequisiteDSC

Unit 1: निबंध (10 घंटे)

  • बालकृष्ण भट्ट- जातियों का अनूठापन (नेशनल चार्टर) (भट्ट निबंधमाला, द्वितीय भाग, नागरीप्रचारिणी सभा, काशी)
  • सरदार पूर्ण सिंह- आचरण की सभ्यता

Unit 2: निबंध (10 घंटे)

  • रामचंद्र शुक्ल- करूणा
  • हजारीप्रसाद द्विवेदी- भारतवर्ष की सांस्कृतिक समस्या

Unit 3: जीवनी एवं व्यंग्य (10 घंटे)

  • रामविलास शर्मा- निराला की साहित्य साधना’ भाग -1 से ‘नए संघर्ष’ शीर्षक अध्याय
  • हरिशंकर परसाई- सदाचार का ताबीज

Unit 4: संस्मरण एंव यात्रावृतांत (15 घंटे)

  • संरमरण: अज्ञेय के साथ- आचार्य जानकीवल्लभ शास्त्री, ‘हंसबलाका’ से
  • यात्रा वृतांत: राहुल सांकृत्यायन- अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा

References:

  • हिंदी का गद्य साहित्य- रामचंद्र तिवारी
  • हिंदी साहित्य और संवेदना का विकास- रामस्वरूप चतुर्वेदी
  • रामचंद्र शुक्ल संचयन- सं. नामवर सिंह (साहित्य अकादेमी)
  • हजारी प्रसाद द्विवेदी संकलित निबंध- सं. नामवर सिंह (नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया)
  • हिंदी आत्मकथा: सिद्धांत और स्वरूप विश्लेषण- विनीता अग्रवाल
  • हिंदी गद्य: विन्यास और विकास- रामस्वरूप चतुर्वेदी
  • भरतेन्दु युग – रामविलास शर्मा
  • छायावादोतर हिंदी गद्य साहित्य- विश्वनाथ प्रसाद तिवारी
  • आधुनिक हिंदी गद्य का साहित्य- हरदयाल
  • गद्यकार आचार्य जानकीवल्लभ शास्त्री- पाल वसीन
  • साहित्य से संवाद- गोपेश्वर सिंह
  • निबंधों की दुनिया- विजयदेव नारायण साही, प्र.सं. निर्मला जैन, हरिमोहन शर्मा

पटकथा और संवाद लेखन

COURSEपटकथा संवाद लेखन
Nature of the CourseGE/ Language
Total Credit4
Lecture3
Tutorial1
Practical0
Eligibility Criteria / PrerequisiteDSC

Unit 1: (10 घंटे)

  • पटकथा अवधारणा और स्वरूप
  • पटकथा लेखन के तत्व
  • पटकथा लेखन की प्रक्रिया

Unit 2: (10 घंटे)

  • फीचर फिल्‍म की पटकथा
  • डॉक्यूमेंट्री की पटकथा
  • धारावाहिक की पटकथा

Unit 3: (10 घंटे)

  • संवाद लेखन की प्रक्रिया
  • संवाद लेखन की विशेषताएँ
  • संवाद संरचना

Unit 4: (15 घंटे)

  • टी.वी. धारावाहिक का संवाद लेखन
  • डॉक्यूमेंट्री का संवाद लेखन
  • फीचर फिल्‍म का संवाद लेखन

References:

  • पटकथा लेखन: मनोहर श्याम जोशी
  • कथा पटकथा: मन्‍नू भंडारी
  • रेडियो लेखन: मधुकर गंगाधर
  • टेलीविजन लेखन: असगर वजाहत, प्रभात रंजन

भाषा और समाज

Generic Elective- (GE) /Language

COURSEभाषा समाज
Nature of the CourseGE/ Language
Total Credit4
Lecture3
Tutorial1
Practical0
Eligibility Criteria / PrerequisiteDSC

Unit 1: (10 घंटे)

  • भाषा और समाज का अंतसंबंध
  • समाज भाषाविज्ञान और उसका स्वरूप
  • भाषा और सामाजिक व्यवहार

Unit 2: (10 घंटे)

  • भाषाई विविधता और भाषिक समुदाय
  • भाषा और समुदाय
  • भाषा और जाति

Unit 3: (10 घंटे)

  • भाषा और वर्ग
  • भाषा अस्मिता और जेंडर
  • भाषा और संस्कृति

Unit 4: (15 घंटे)

  • भाषा सर्वेक्षण
  • भाषा सर्वेक्षण: स्वरूप और प्रविधि
  • भाषा नमूनों का सर्वेक्षण और विश्लेषण

References:

  • भाषा और समाज- रामविलास शर्मा
  • हिंदी भाषा चिंतन- दिलीप सिंह
  • आलोचना की सामाजिकता- मैनेजर पांण्डेय
  • सांझी सांस्कृतिक विरासत के आईने में भारतीय साहित्य- मंजु मुकुल, हर्ष बाला

Additional Resources:

  • Socio Linguistics: An Introduction to Language and Society — Peter Trudgill
  • Socio Linguistics- R. A. Hudson
  • An Introduction to Socio Linguistics- Ronald Wordhaugh
  • The Shadow of Language- George Yule

हिंदी भाषा और लिपि का इतिहास

COURSEहिंदी भाषा और लिपि का इतिहास
Nature of the CourseGE/ Language
Total Credit4
Lecture3
Tutorial1
Practical0
Eligibility Criteria / PrerequisiteDSC

Unit 1: हिंदी भाषा के विकास की पूर्वपीठिका (10 घंटे)

  • भारोपीय भाषा-परिवार एवं आर्यभाषाएँ (पालि, प्राकृत, अपभ्रंश आदि)
  • हिंदी का आरंभिक रूप
  • ‘हिंदी’ शब्द का अर्थ एवं प्रयोग
  • हिंदी का विकास (आदिकाल, मध्यकाल, आधुनिककाल)

Unit 2: हिंदी भाषा का क्षेत्र एंव विस्तार (10 घंटे)

Unit 3: लिपि का इतिहास (10 घंटे)

  • भाषा और लिपि का अंतस्संबंध
  • लिपि के आरंभिक रूप (चित्रलिपि, भावलिपि, ध्वनि-लिपि)
  • भारत में लिपि का विकास

Unit 4: देवनागरी लिपि (15 घंटे)

  • देवनागरी लिपि का परिचय एंव विकास
  • देवनागरी लिपि का मानकीकरण
  • देवनागरी लिपि की विशेषताएँ
  • देवनागरी लिपि और कम्प्यूटर

References:

  • हिंदी भाषा का इतिहास- धीरेंद्र वर्मा
  • भारतीय पुरालिपि- डॉ. रामबली पाण्डेय (लोकभारती प्रकाशन)
  • हिंदी भाषा का उद्गम और विकास- उदयनारायण तिवारी
  • हिंदी भाषा की पहचान से प्रतिष्ठा तक- डॉ. हनुमानप्रसाद शुक्ल
  • लिपि की कहानी- गुणाकर मुले
  • भाषा और समाज- रामविलास शर्मा
Previous articleफोटोग्राफी का कलात्मक रूप | kalatmak photography
Next articleDU BA Prog. Hindi 2nd Semester Syllabus