आर्टिकल

ritikal-ki-pramukh-pravritiyan

रीतिकालीन काव्य की प्रमुख प्रवृतियाँ | reetikal

2
रीतिकालीन काव्य की रचना सामंती परिवेश और छत्रछाया में हुई है इसलिए इसमें वे सारी विशेषताएँ पाई जाती हैं जो किसी भी सामंती और...
sampreshan-ke-vibhinn-model

संप्रेषण के विभिन्‍न मॉडल | sampreshan ke vibhinn model

0
संप्रेषण मॉडल संप्रेषण पर अधिकतर पश्चिमी विचारकों ने ही अपना मत रखा है, भारतीय चिंतन परम्परा में इसका अभाव दिखाई देता है। पश्चिमी विद्वानों के प्रमुख...
error: Content is protected !!