UGC NET Hindi old Question Paper Quiz 59

0
1172
nta-ugc-net-hindi-quiz
NTA UGC NET Hindi Mock Test

दोस्तों यह हिंदी quiz 59 है। जो 2004 से लेकर 2019 तक के ugc net jrf हिंदी के प्रश्नपत्रों पर आधारित है। हिंदी के प्रश्नपत्रों में हिंदी आलोचना से संबंधित पूछे गए प्रश्नों का दूसरा भाग इस quiz के माध्यम से दिया जा रहा है। ठीक उसी तरह जैसे हिंदी आलोचना से संबंधित प्रश्नों का पहला भाग nta ugc net hindi quiz 58 में दिया गया था।

1. ‘छायावाद का पतन’ पुस्तक के लेखक कौन हैं? (दिसम्बर, 2014, III)

(A) शांतिप्रिय द्विवेदी

(B) रामविलास शर्मा

(C) नंददुलारे वाजपेयी

(D) देवराज ✅

2. इनमें से किस हिंदी आलोचक ने ‘साधारणीकरण’ की व्याख्या की है? (दिसम्बर, 2014, III)

(A) नगेन्द्र ✅

(B) नंददुलारे वाजपेयी

(C) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(D) नामवर सिंह

3. निम्नलिखित में से महावीर प्रसाद द्विवेदी का कथन कौन-सा है? (दिसम्बर, 2015, II)

(A) भाषा संसार का नादमय चित्र है, ध्वनिमय स्वरूप है

(B) मनुष्यों को मुक्ति की तरह कविता की भी मुक्ति होती है

(C) कवित्व को आत्मा की अनुभूति कहते हैं

(D) अर्थ सौरस्य ही कविता का प्राण है ✅

4. ‘विभक्ति विचार’ नामक पुस्तक की रचना किसने की थी? (जून, 2015, III)

(A) माधव प्रसाद मिश्र

(B) महावीर प्रसाद द्विवेदी

(C) गोविंद नारायण ✅

(D) कामता प्रसाद गुरु

5. निम्नलिखित में से रामदहिन मिश्र की कृति कौन-सी है? (दिसम्बर, 2015, III)

(A) विभक्त विचार

(B) प्रवेशिका हिंदी व्याकरण ✅

(C) भाषा तत्त्व प्रकाश

(D) हिंदी व्याकरण

6. ‘हिंदी रीति ग्रंथों की परंपरा चिंतामणि त्रिपाठी से चली, अतः रीतिकाल का आरंभ उन्हीं से मानना चाहिए’– किस इतिहासकार का कथन है? (दिसम्बर, 2015, III)

(A) रामचंद्र शुक्ल ✅

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(C) विश्वनाथ प्रसाद मिश्र

(D) बच्चन सिंह

7. “भारतेंदु हरिश्चंद्र का प्रभाव भाषा और साहित्य दोनों पर बड़ा गहरा पड़ा। उन्होंने जिस प्रकार गद्य की भाषा को परिमार्जित करके उसे बहुत ही चलता, मधुर और स्वच्छ रूप दिया, उसी प्रकार हिंदी साहित्य को भी नए मार्ग पर लाकर खड़ा कर दिया।”

-यह कथन किसका है? (दिसम्बर, 2015, III)

(A) रामचंद्र शुक्ल ✅

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(C) नंद दुलारे वाजपेयी

(D) शिवदान सिंह चौहान

8. ‘स्त्रीत्व का मानचित्र’ किसकी रचना है? (दिसम्बर, 2015, III)

(A) सुशीला टाकभोरे

(B) सविता सिंह

(C) अनामिका ✅

(D) प्रभा खेतान

9. ‘सौंदर्य की वस्तुगत सत्ता होती है, इसलिए यह शुद्ध सौंदर्य नाम की कोई चीज नहीं होती’

-किसका कथन है? (दिसम्बर, 2015, III)

(A) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(B) रामचंद्र शुक्ल

(C) रामविलास शर्मा ✅

(D) नंददुलारे वाजपेयी

10. ‘प्रेमचंद और उनका युग’ के लेखक हैं: (जून, 2016, II)

(A) हंसराज रहबर

(B) इंद्रनाथ मदान

(C) नंददुलारे बाजपेयी

(D) रामविलास शर्मा ✅

11. ‘लघुमानव’ को अवधारणा किस आलोचक की है? (दिसम्बर, 2016, II)

(A) लक्ष्मीकांत वर्मा

(B) मुक्तिबोध

(C) विजयदेव नारायण साही ✅

(D) जगदीश गुप्त

12. “धर्म का प्रवाह कर्म, ज्ञान और भक्ति, इन तीन धाराओं में चलता है। इन तीनों के सामंजस्य से धर्म अपनी पूर्ण सजीव दशा में रहता है। किसी एक के भी अभाव से वह विकलांग रहता है।”

-यह कथन किस आलोचक का है? (जून, 2016, III)

(A) रामचंद्र शुक्ल ✅

(B) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(C) राहुल सांकृत्यायन

(D) रामविलास शर्मा

13. ‘नया साहित्य: नये प्रश्न’ ग्रंथ के लेखक हैं: (जून, 2016, III)

(A) नगेन्द्र

(B) शांतिप्रिय द्विवेदी

(C) नंददुलारे वाजपेयी ✅

(D) हजारी प्रसाद द्विवेदी

14. ‘हिंदी साहित्य के अस्सी वर्ष’ के लेखक हैं: (दिसम्बर, 2016, III)

(A) नेमिचंद जैन

(B) शिवदान सिंह चौहान ✅

(C) विश्वम्भरनाथ उपाध्याय

(D) शिव कुमार मिश्र

15. ‘प्रगतिवाद’ शीर्षक पुस्तक के लेखक हैं- (नवंबर, 2017, II)

(A) रामविलास शर्मा

(B) रांगेय राघव

(C) शिव कुमार मिश्र ✅

(D) शिवदान सिंह चौहान

16. ‘मैं साहित्य को मनुष्य की दृष्टि से देखने का पक्षपाती हूँ।’ यह किस आचार्य की उक्ति है? (जून, 2017, III)

(A) महावीर प्रसाद द्विवेदी

(B) रामचंद्र शुक्ल

(C) हजारी प्रसाद द्विवेदी ✅

(D) नंददुलारे वाजपेयी

17. “काव्य की पूर्ण अनुभूति के लिए कल्पना का व्यापार कवि और श्रोता दोनों के लिए अनिवार्य है।” (नवम्बर, 2017, III)

उक्त कथन किस आचार्य का है?

(A) रामचंद्र शुक्ल ✅

(B) नगेन्द्र

(C) नंददुलारे वाजपेयी

(D) हजारी प्रसाद द्विवेदी

18. ‘हिंदी साहित्य: बीसवीं शताब्दी’- आलोचना-ग्रंथ के लेखक हैं: (जून, 2018, II)

(A) शांतिप्रिय द्विवेदी

(B) नंददुलारे वाजपेयी ✅

(C) नेमिचंद्र जैन

(D) शिवदान सिंह चौहान

19. गाँधीवाद के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही नहीं है? (जून, 2019, II)

(A) इसके पीछे मार्क्सवाद के समान व्यवस्थित शास्त्रीय अध्ययन नहीं है

(B) इसका आधार तर्क नहीं सहानुभूति है

(C) इसमें विचार-स्वातंत्रय का अभाव है ✅

(D) इसके विचारों का श्रोत दैनिक साधना है

20. निम्नलिखित में से किस आलोचक का संबद्ध मार्क्सवाद से है? (जून, 2019, II)

(A) परशुराम चतुर्वेदी

(B) रामस्वरूप चतुर्वेदी

(C) शिवदान सिंह चौहान ✅

(D) नंददुलारे वाजपेयी

21. ‘शुक्ल जी ने न तो भारत के रूढ़िवाद को स्वीकार किया, न पश्चिमी व्यक्तिवाद को।’

-उपर्युक्त कथन किस लेखक का है? (जून, 2019, II)

(A) नंददुलारे वाजपेयी

(B) रामविलास शर्मा ✅

(C) नामवर सिंह

(D) नगेंद्र

22. महावीर प्रसाद द्विवेदी की निम्नलिखित रचनाओं में से आलोचना विधा की रचनाएँ कौन-कौन-सी हैं? (जून, 2019, II)

(A) कालिदास की निरंकुशता, कविता कलाप

(B) कविता कलाप, कुमार संभव सार

(C) कुमार संभव सार, कविता कलाप, कालिदास की निरंकुशता

(D) कालिदास की निरंकुशता, कालिदास और उनकी कविता ✅

23. ‘अच्छी हिंदी बस एक ही व्यक्ति लिखता था’

-यह कथन किस आलोचक ने किसके बारे में कहा था? (दिसम्बर, 2019, II)

(A) हजारी प्रसाद द्विवेदी ने निराला के बारे में

(B) महावीर प्रसाद द्विवेदी ने बालमुकुंद गुप्त के बारे में ✅

(C) रामचंद्र शुक्ल ने जयंशकर प्रसाद के बारे में

(D) नंददुलारे वाजपेयी ने महावीर प्रसाद द्विवेदी के बारे में

24. ‘न खास हिंदी, न खास उर्दू जबान गोया मिली-जुली हो’

-उपुर्यक्त कथन किसका है? (दिसम्बर, 2019, II)

(A) शिवप्रसाद ‘सितारे हिंद’ ✅  

(B) भारतेंदु हरिश्चंद्र

(C) राजा लक्ष्मण सिंह

(D) जॉर्ज ग्रियर्सन

25. ‘कविकर्म और काव्यभाषा’ किस आलोचक की समीक्षा कृति है? (दिसम्बर, 2019, II)

(A) मलयज

(B) रामस्वरूप चतुर्वेदी

(C) परमानंद श्रीवास्तव ✅

(D) प्रभाकर श्रोत्रिय

26. रामविलास शर्मा कृत ‘महावीर प्रसाद द्विवेदी और हिंदी नवजागरण’ का प्रकाशन काल है: (दिसम्बर, 2019, II)

(A) सन्‌ 1965

(B) सन्‌ 1977 ✅

(C) सन्‌ 1982

(D) सन्‌ 1972

Previous articleसर्वनाम की परिभाषा, प्रकार एवं उदहारण | pronoun
Next articleUGC NET Hindi old Question Paper Quiz 60

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here