फोटो पत्रकार के गुण | Qualities of Photojournalist

0
1611
photojournalist=qualities
फोटो पत्रकार के गुण

फोटो पत्रकार के लिए कैमरा एक डायरी है, जो घटनाओं को रिकॉर्ड करता है। फोटो पत्रकारिता में सिर्फ कैमरे का महत्व नहीं है, उसके पीछे खड़े व्यक्ति का भी होता है। भयावह, विनाशकारी, विकृति एवं वीभत्स घटनाओं को कैमरे में कैद करने हेतु एक फोटो पत्रकार जितना तत्पर रहता है उतना ही वह किसी समारोह, उत्सव और आयोजन के साथ एकाग्रचित होता है।

फोटो पत्रकार के अंदर सही तथा निर्णायक क्षण को पकड़ने की क्षमता भी होनी चाहिए। उसे यह मालूम होना चाहिए कि वह किस कोण और दृष्टि से कैमरे का प्रयोग करे। क्योंकि कोण बदलने से दृष्टिकोण बदल जाता है। फोटो खुबसूरत आये, इसके बजाय ध्यान इस बात पर दिया जाता है कि किस एंगल से फोटो लिया जाए ताकि फोटो के माध्यम से पूरी कहानी स्पष्ट हो जाए।

कलात्मक छायांकन के लिए फोटोग्राफर की पारखी नजर और कलात्मक सोच होनी चाहिए। उसमें रंगों के व्यवहार के साथ उसके स्वरूप और छाया के प्रभाव की जानकारी होनी चाहिए। यदि उसमें दृश्य के अध्ययन की रूचि नहीं है तो कम्पोजीशन की दृष्टि उसमें नहीं पनप सकती।

प्रिंट, सोशल और इलेक्ट्रानिक मीडिया में फोटो पत्रकारों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। कोई भी फोटोग्राफर फोटो पत्रकार नहीं बन सकता, उसमें फोटो पत्रकार के गुण होने आवश्यक है। इसके लिए फोटो पत्रकार को प्रशिक्षण लेना जरूरी होता है। इस क्षेत्र में सफल होने के लिए एक फोटो पत्रकार में कई गुण होने जरूरी हैं:

1. अच्छा संवाददाता

एक फोटो पत्रकार अंदर संवाददाता के भी सभी गुण मौजूद होना चाहिए क्योंकि वह फोटोग्राफर से पहले एक पत्रकार है। अपने नाम के अनुरूप उसमें दोनों के गुण होने चाहिए। एक पत्रकार की तरह उसमें भी संबंधित क्षेत्र का विस्तृत ज्ञान होना आवश्यक है, क्योंकि उसे अकेले कैमरे के साथ सारे तथ्य इकट्ठे करने होते हैं। उसमें पत्रकारों की तरह समाचार सूंघने, खोजने की क्षमता होनी चाहिए। फोटो पत्रकार को आंदोलनकारियों, प्रदर्शनकारियों की स्वाभाविक मुद्रा का चित्र लेना चाहिए।

2. विषय का ज्ञान

फोटो पत्रकार एक फोटोग्राफर होने से पहले एक पत्रकार होता है, अर्थात उसे पत्रकारिता का भी ज्ञान होना चाहिए। उसके ऊपर दोहरी जिम्मेदारी होती है। उसे घटनाओं पर पैनी नजर रखनी चाहिए तथा यह निर्णय करने में सक्षम होना चाहिए कि कौन सा समाचार फोटो की दृष्टि से महत्वपूर्ण हो सकता है। किशोर पारेख के अनुसार, “फोटोग्राफी संवाद की अत्यंत प्रभावकारी भाषा है। फोटोग्राफर को अपने विषय की अच्छी जानकारी और अपने आस-पास के जीवन में गहरी रूचि होनी चाहिए। सामने जो दुनिया दिखती है उसे दिल और दिमाग तक महसूसा जाना चाहिए। सिकुड़ती दुनिया को फोटोग्राफी विस्तार दे सकती है। दुनिया को एक-दूसरे के नजदीक लेन में फोटोग्राफी अहम भूमिका निभा सकती है। मनुष्य की आँख बहुत कुछ देखती है। उस प्रकाश का, छाया व रंग का अलग-अलग ढंग से अर्थ लगाती है। अत: आँख बढ़िया दृश्य पर टिकनी चाहिए।”i

3. तकनीकी कौशल

फोटो पत्रकार को फोटोग्राफी और संपादन की सभी तकनीकों का ज्ञान होना चाहिए। उच्च गुणवत्ता वाली छवियों को कैप्चर करने के लिए एक फोटो जर्नलिस्ट को कैमरे और अन्य उपकरणों का उपयोग करने में कुशल होना चाहिए। इसमें विज़ुअल रूप से आकर्षक फोटोग्राफ़ बनाने के लिए विभिन्न लेंसों, फिल्टर्स, शटरगति, सेटिंग्स और प्रकाश तकनीकों का उपयोग करने की समझ शामिल है। उसे कम्पोजीशन के नियम, रूल आफ थर्ड, सेंटर आफ इंटरेस्ट आदि की जानकारी होना चाहिए। फोटो पत्रकार के पास सभी कैमरे, लाइट और लेंस होने चाहिए और घटनाओं के अनुसार उनका उपयोग करने का ज्ञान होना चाहिए। यदि वह फोटो तकनीक की बारीकियों में दक्ष नहीं है तो अच्छा फोटो पत्रकार नहीं बन सकता। संक्षेप में उसे कैमरे के प्रचलित किस्मों, तकनीकी पहलुओं और कैमरे के संचालन की अच्छी जानकारी होनी चाहिए।

4. समाचार निर्णय

एक फोटो पत्रकार के पास समाचार योग्य घटनाओं के लिए गहरी नजर होनी चाहिए और एक कहानी बताने के लिए सबसे सम्मोहक छवियों की पहचान करने में सक्षम होना चाहिए। उसे पूरी घटना का विश्लेषण करने के लिए त्वरित होना चाहिए। उन्हें होने वाले सहज क्षणों का अनुमान लगाने और कैप्चर करने में भी सक्षम होना चाहिए। वर्तमान समय में फोटोग्राफी तकनीक काफी उन्नत हो चुकी है, फोटोग्राफी के लिए किसी विशेष तकनीकी प्रशिक्षण की जरुरत अब उतनी नहीं है। क्योंकि आटोमेटिक एक्सपोजर और आटो फोकस जैसे कैमरे उपलब्ध हैं। वहीं फोटो पत्रकार को विषय की समझ के साथ पूर्व ज्ञान और जीवनानुभव के आधार पर सही निर्णय ले पाता है कि कोई विषय समाचार है या नहीं।

5. रचनात्मकता

एक फोटो पत्रकार सृजनशील और रचनात्मक रूप से सोचने में सक्षम होना चाहिए। किसी विचार या घटना को चित्र रूप में सोचना ही अच्छे पत्रकार का गुण है। उसे शक्तिशाली छवियां बनाने के लिए संरचना, प्रकाश व्यवस्था और अन्य तत्वों का उपयोग करना आना चाहिए ताकि क्या घटित हो रहा है, की भावना को व्यक्त कर सके। यदि फोटो पत्रकार के पास रचनात्मक दृष्टि नहीं होगी तो वह फोटो पत्रकारिता करने में असमर्थ होगा। उसके पास कल्पना की एक अनूठी भावना होनी चाहिए। क्योंकि विचारों में मौलिकता, नवीनता एवं प्रभावशीलता फोटो पत्रकार का महत्वपूर्ण गुण है।

6. नैतिकता

एक फोटो पत्रकार को सख्त नैतिक सिद्धांतों का पालन करना चाहिए, जैसे कि सटीकता, निष्पक्षता, विषयों की गोपनीयता और गरिमा के लिए सम्मान। उन्हें अपने विषयों और जनता पर उनकी छवियों के संभावित प्रभाव के बारे में भी पता होना चाहिए। उसे स्वभाव से सकारात्मक और कुछ स्थितियों के प्रति मानवीय होना चाहिए। फोटो पत्रकारिता में सच्चाई और ईमानदारी का महत्व सबसे अधिक है, क्योंकि पाठकों को उसमें सत्यता दिखती है। एक अच्छा फोटोग्राफर केवल बटन दबाने वाला नहीं होता, वह लाखों पाठकों और दर्शकों को सूचना देने वाला होता है। अत: उसे दूर-दृष्टि वाला होना चाहिए तथा सूझ-बूझ से काम लेना चाहिए।

7. अनुकूलनशीलता

एक फोटो पत्रकार को हमेशा बदलते मीडिया परिदृश्य में नई तकनीकों और प्लेटफार्मों के अनुकूल होने में सक्षम होना चाहिए। इसमें उनके काम को ऑनलाइन संपादित करने और प्रकाशित करने में कुशल होना शामिल है। फोटो पत्रकार को समय का पाबंद होना चाहिए। उसे हमेशा अपनी सभी आवश्यकताओं के साथ पहले से ही तैयार रहना चाहिए ताकि अगर कोई घटना हो रही है तो वह उस कार्यक्रम में समय पर पहुंच सके। समय से नहीं पहुँचने पर ‘का वर्षा कृषि सुखाने’ लोकोक्ति वाली बात होगी।

8. संवाद कौशल

एक फोटो पत्रकार को मिलनसार और संवेदनशील होना चाहिए। उसे अपने सहयोगियों और ग्राहकों के साथ प्रभावी ढंग से संवाद करने में सक्षम होना चाहिए, साथ ही साथ अपनी छवियों के लिए स्पष्ट और संक्षिप्त कैप्शन लिखने में सक्षम होना चाहिए। उसे घटनाओं, कार्यक्रमों तथा परिवर्तनों की जानकारी होनी चाहिए। यदि फोटोग्राफर किसी जानी-पहचानी शख्सियत की तस्वीर क्लिक करने जा रहा है तो उसके पास उनके बारे में कुछ पृष्ठभूमि की जानकारी होनी चाहिए। ताकि वह उनकी पर्सनैलिटी के हिसाब से तस्वीरें क्लिक कर सकें। फोटो पत्रकार को अपना काम चुपचाप तरीके से करना चाहिए, क्योंकि प्रदर्शन करने से प्राय: वास्तविक स्थिति विकृति हो जाती है।

9. दृढ़ता

एक फोटो पत्रकार को दबाव में और चुनौतीपूर्ण वातावरण में काम करने में सक्षम होना चाहिए, और सर्वोत्तम संभव छवियों को कैप्चर करने के लिए समय और प्रयास करने के लिए तैयार रहना चाहिए। उसे यह भी पता होना चाहिए कि कम उपकरणों के साथ कठिन परिस्थितियों में कैसे काम करना है। फोटो पत्रकार में दृढ़ निश्चय और आत्मविश्वास की भावना का होना बहुत जरूरी है। यदि उसमें निडरता, संघर्षशीलता और धैर्यशीलता के गुण नहीं हैं तो वह दंगों, झड़पों, युद्धों और प्राकृतिक आपदाओं आदि को कैमरे में कैद नहीं कर पायेगा। ऐसी परिस्थितियों में फोटो पत्रकार की असली परीक्षा होती है, क्योंकि उसे खुद की सुरक्षा के साथ-साथ अपने कैमरे में कैद सबूतों को भी बचाना होता है।

10. सांस्कृतिक जागरूकता

एक फोटो पत्रकार को सांस्कृतिक विविधता के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। उसे विभिन्न दर्शकों पर छवियों के संभावित प्रभाव से अवगत होना चाहिए। जहाँ एक फोटोग्राफर में फोटोग्राफ की गई वस्तु की जानकारी होना आवश्यक नहीं है, वहीं फोटो पत्रकार के लिए विषयवस्तु की जानकारी होना अति आवश्यक है। किसी भी घटना, उसके कारणों तथा उससे पड़ने वाले असर की जानकारी होना जरूरी है। उसे सदैव सतर्क, सजग और जिम्मेदार रहना चाहिए।

“फोटो पत्रकार को ऐसे चित्र नहीं लेने चाहिए जो सामाजिक तथा राजनितिक समस्याएं उत्पन्न करने में सहायक हों।”ii इससे समाज व राष्ट्र को हानि होने की संभावना रहती है। फोटो पत्रकार की दृष्टि सदैव मानवीय होनी चाहिए। देश व मानवता के प्रति जिम्मेदारी का वहन करते हुए अनेक चित्रों का मोह पत्रकार को छोड़ देना चाहिए।

11. प्रेस संबंधी कानूनों का ज्ञान

फोटो पत्रकार को प्रेस संबंधी कानूनों की जानकारी होनी चाहिए। उसे सत्य, तथ्य और यथार्थ पर आधारित फोटो ही लेना चाहिए, नहीं तो वह अवमानना के अपराध में फंस सकता है। फोटो पत्रकार को प्रतिबंधित स्थलों, कॉपीराइट, अश्लील दृश्यों, कार्यालयी गोपनीयता आदि से संबंधित बस्तुओं का फोटोग्राफी नहीं करना चाहिए। जिन स्थानों पर फोटोग्राफी निषिद्ध है, फोटोग्राफी निषेध की सूचना लगा है उसे उन जगहों की फोटोग्राफी नहीं करनी चाहिए। यदि उसे पत्रकारिता की आचार सहिंता का ज्ञान नहीं होगा तो राष्ट्र, समाज, विधायिक और न्यायपालिका का हनन होने की संभावना बढ़ जाएगी।

कुल मिलाकर, एक फोटो जर्नलिस्ट को एक कुशल और रचनात्मक फोटोग्राफर होना चाहिए, जिसमें नैतिकता की प्रबल भावना हो और जिसमें नई तकनीकों को अपनाने की क्षमता हो। उसे प्रभावी ढंग से संवाद करने और विभिन्न प्रकार के वातावरण में दबाव में काम करने में भी सक्षम होना चाहिए।

FAQ

Q. फोटो पत्रकार के महत्वपूर्ण गुण क्या हैं?

Ans. फोटो पत्रकारिता में सफल होने के लिए फोटो पत्रकार में कई तरह के गुण होने चाहिए। उसे तकनीकी कौशल में दक्ष होना चाहिए, जैसे- कैमरा सेटिंग्स और संरचना की समझ, साथ ही जल्दी और दबाव में काम करने की क्षमता। उन्हें जिज्ञासु, सहानुभूतिपूर्ण और विविध पृष्ठभूमि के लोगों से जुड़ने में सक्षम होना चाहिए। फोटोजर्नलिस्टों को पत्रकारिता नैतिकता और दुनिया के दस्तावेजीकरण के साथ आने वाली जिम्मेदारी की गहरी समझ होनी चाहिए।

Q. फोटो पत्रकारों को किन तकनीकी कौशलों की आवश्यकता है?

Ans. फोटो पत्रकार को फोटोग्राफी के तकनीकी पहलुओं में कुशल होना चाहिए, जिसमें कैमरा सेटिंग्स, लाइटिंग, कंपोजिशन और इमेज एडिटिंग शामिल हैं। उन्हें विभिन्न प्रकार के कैमरों और लेंसों की भी समझ होनी चाहिए, साथ ही किसी स्थिति में सर्वोत्तम संभव छवियों को कैप्चर करने में समर्थ होना चाहिए।

Q. फोटो पत्रकार के लिए सहानुभूति कितनी महत्वपूर्ण है?

Ans. फोटो पत्रकार के लिए सहानुभूति एक महत्वपूर्ण गुण है, क्योंकि यह उन्हें उन लोगों से जुड़ने की अनुमति देता है जिनकी वे तस्वीरें खींच रहे हैं और उनके अनुभवों को समझते हैं। अपने विषयों के प्रति सहानुभूति विकसित करके, फोटो पत्रकार अधिक शक्तिशाली और भावनात्मक छवियों को कैप्चर करने में सक्षम होते हैं जो एक कहानी बताते हैं और परिवर्तन को प्रेरित करते हैं।

Q. फोटो पत्रकारिता में नैतिकता की क्या भूमिका है?

Ans. नैतिकता फोटो पत्रकारिता (Photojournalism) का एक अनिवार्य हिस्सा है, क्योंकि फोटो पत्रकार की जिम्मेदारी है कि वे दुनिया को सही और सच्चाई के साथ दस्तावेज करें। इसका मतलब उस संदर्भ के बारे में ईमानदार होना है जिसकी छवि ली गई थी। उसे उन छवियों में हेरफेर या परिवर्तन से बचना चाहिए जो वास्तविकता को गलत तरीके से प्रस्तुत करते हैं। फोटो पत्रकारों को जनता की निजता और गरिमा का सम्मान करना चाहिए और व्यक्तिगत लाभ के लिए किसी को ठेस पहुँचाने से बचना चाहिए।

Q. फोटो पत्रकारों के लिए शीघ्र कार्य करना क्यों महत्वपूर्ण है?

Ans. फोटो पत्रकार को अक्सर तेज-तर्रार और अप्रत्याशित वातावरण में काम करना पड़ता है, जहाँ घटनाएं जल्दी और बिना किसी चेतावनी के सामने आ सकती हैं। तेजी से कार्य करने से वे महत्वपूर्ण क्षणों को उसी रूप में कैप्चर कर पाते हैं जैसे वे घटित होते हैं, और समाचार ईवेंट की सामयिक और प्रासंगिक कवरेज प्रस्तुत करने में सक्षम होते हैं।

संदर्भ

i. हिंदी पत्रकारिता और जनसंचार- डॉ. ठाकुर दत्त शर्मा, वाणी प्रकाशन, दिल्ली- 2012, पृष्ठ- 104

ii. पत्रकारिता के नए आयाम- एस.के. दुबे, लोक भारती प्रकाशन, इलाहाबाद- 2006, पृष्ठ- 95

Previous articleफोटो पत्रकारिता का स्वरूप | photo patrakarita
Next articleफोटोग्राफी के मूलभूत सिद्धांत