प्रेसनोट | Press Note

0
887
press-note
Press Note

प्रेसनोट:

प्रेस नोट भी प्रेस विज्ञप्ति की भांति सरकार द्वारा जारी किये जाते हैं। इसका उद्देश्य सरकार द्वारा जनता को कोई जानकारी देना, किसी विवादस्पद विषय पर सरकार का पक्ष प्रस्तुत करना, जनता में फैले किसी भ्रम को दूर करना होता है। इसके माध्यम से राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री आदि के दौरों एवं कार्यक्रमों की सूचना भी दी जाती है।

प्रेस नोट जन सामान्य की सूचना हेतु समाचार पत्रों में प्रकाशित की जाती है। यह प्रेस विज्ञप्ति की अपेक्षा कम औपचारिक होता है। संपादक अपनी सुविधानुसार इसको संपादित कर सकता है अर्थात इसके आकार को छोटा या बड़ा कर सकता है तथा वाक्य संरचना में बदलाव कर सकता है। परंतु उसे संपादन करते समय इस बात का पूरा ध्यान रखना पड़ता है कि प्रेस नोट का आशय तिरोहित न हो जाए। इसका उद्देश्य केवल सूचना को प्रकाशित करना होता है। प्रेस नोट की कोई समय सीमा निर्धारित नहीं होती है।

प्रेस नोट के अंग:

1. प्रेस नोट:

प्रेस नोट में सबसे ऊपर बोल्ड में ‘प्रेस नोट’ लिखा जाता है।

प्रेस नोट

2. विषय / शीर्षक:

प्रेस नोट लिखने के बाद आलेख का विषय/शीर्षक दिया जाता है। परंतु विषय का शीर्षक देना जरुरी नहीं है।

3. विषयवस्तु / कलेवर:

शीर्षक के बाद विषयवस्तु दिया जाता है। इसमें निर्णय, बयान, स्पष्टीकरण, निवेदन आदि जानकारी रहती है।

4. आदेश:

प्रेस नोट के अंत में यह आदेश होता है कि इसे प्रधान सूचना अधिकारी के पास भेज दिया जाए जिससे वह यह आदेश जारी कर सके।

5. हस्ताक्षर एवं पदनाम:

आदेश के बाद दाईं ओर प्रेस नोट जारी करने वाले के हस्ताक्षर होते हैं तथा उसके नीचे पदनाम लिखा जाता है।

हस्ताक्षर

(क. ख. ग.)

पदनाम

6. मंत्रालय का नाम, स्थान और तिथि:

पदनाम के बाद बाईं ओर पहले मंत्रालय का नाम, फिर स्थान और तिथि दिया जाता है।

मंत्रालय/विभाग…..

स्थान………

दिनांक……

प्रेस विज्ञप्ति और प्रेस नोट में अंतर:

सरकार के कार्यकलापों और नीतियों की व्यापक जानकारी जन सामान्य को देने के लिए प्रेस विज्ञप्ति और प्रेस नोट का प्रयोग किया जाता है। सरकारी और अर्द्धसरकारी पत्र, कार्यालय ज्ञापन और आदेश, परिपत्र आदि का संबंध जहाँ सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के बीच होता है वहीं प्रेस विज्ञप्ति और प्रेस नोट का संबंध सरकार और जनता के बीच होता है। इसके माध्यम से सरकारी सूचनाओं को जनता तक पहुँचाने के लिए समाचार पत्रों का सहारा लिया जाता है। प्रेस विज्ञप्ति और प्रेस नोट में ऊपरी तौर पर कोई अंतर तो दिखाई नहीं पड़ता। दोनों में प्रमुख अंतर निम्नलिखित हैं-

  1. प्रेस विज्ञप्ति सामान्यत: केंद्र सरकार द्वारा जारी की जाती है जबकि प्रेस नोट प्रांतीय सरकारों के सूचना एवं प्रकाशन विभाग द्वारा जारी की जाती है।
  2. जो सूचना शासन द्वारा जारी होती है उसे प्रेस विज्ञप्ति कहते हैं और अधीनस्थ अधिकारियों और उनके कार्यालयों से जारी होने वाली सूचनाओं को प्रेस नोट कहा जाता है।
  3. प्रेस विज्ञप्ति को सचिवालय या उसके अनुभाग जारी करते हैं वहीं प्रेस नोट मंडल या जिलास्तर पर जारी होता है।
  4. प्रेस विज्ञप्ति में औपचारिकता रहती है जबकि प्रेस नोट अपेक्षाकृत अधिक अनौपचारिक पत्राचार है।
  5. प्रेस विज्ञप्ति को ज्यों का त्यों प्रकाशित किया जाता है जबकि प्रेस नोट को छोटा या बड़ा किया जा सकता है।

प्रेस नोट का प्रारूप:

प्रेस नोट का नमूना:

Previous articleप्रेस विज्ञप्ति | Press Vigyapti
Next articleतार | Telegram